June 13, 2024

बूढ़ातालाब धरना स्थल हुआ नवा रायपुर में शिफ्ट: कलेक्टर ने जारी किया आदेश


रायपुर: करीब एक दशक बाद बूढ़ातालाब धरना स्थल को आखिरकार नवा रायपुर में शिफ्ट कर दिया गया है। नया धरना स्थल नवा रायपुर में राज्योत्सव मेले के सामने तय किया गया है। कलेक्टर ने शनिवार की रात शिफ्टिंग का आदेश भी जारी कर दिया। करीब एक साल पहले तत्कालीन कलेक्टर सौरभ कुमार ने भी धरना स्थल इसी जगह पर तय किया था। उसके बाद नवा रायपुर विकास प्राधिकरण की जमीन पर धरना स्थल बनाने की तैयारी भी शुरू कर दी गई थी। वहां सार्वजनिक शौचालय और पानी की व्यवस्था भी कर दी गई थी।


बाद में कई राजनैतिक संगठनों के विरोध के बाद शिफ्टिंग टाल दी गई थी। उसके बाद से सभी छोटे-बड़े धरने बूढ़ातालाब के सामने ही होने लगे। शहर के बीचोबीच होने से बड़ा धरना होने पर नौ वार्ड के एक लाख से ज्यादा लोग परेशान होते थे। पिछले एक हफ्ते से कई सामाजिक, व्यापारी संगठन, महापौर, सभापति, पार्षदों के साथ स्कूल-कॉलेज के छात्र-छात्राएं धरना स्थल हटाने की मांग को लेकर सड़क पर विरोध-प्रदर्शन कर रहे थे। शुक्रवार को प्रशासन और पुलिस ने एक संगठन को माना-तूता में धरना देने की अनुमति दी।

माना जा रहा था कि माना-तूता को ही नया धरना स्थल बनाया जाएगा, लेकिन एक दिन बाद ही कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भुरे ने नवा रायपुर में मेला स्थल के पास धरना स्थल तय कर दिया। कलेक्टर के इस फैसले के आम लोगों ने खुले दिल से स्वागत किया है।

सौ लोगों के लिए अभी भी बूढ़ातालाब ही धरना स्थल
कलेक्टर ने छोटे संगठनों को थोड़ी राहत दे दी है। 100 से कम लोग बूढ़ातालाब में भी धरना दे सकेंगे, लेकिन सभी बड़े धरना, प्रदर्शन और विरोध रैली नवा रायपुर में ही होंगे। 100 से ज्यादा आंदोलनकारियों को नवा रायपुर के सेक्टर 23 में स्थित तूता ग्राम में राज्योत्सव मैदान के सामने ही जाना होगा। प्रदर्शन के पहले संगठनों या आंदोलनकारियों को लिखकर देना होगा कि उनके धरना-प्रदर्शन में 100 से ज्यादा लोग होने पर उन पर कार्रवाई की जा सकती है।

कलेक्टर ने पहले जांच कराई फिर जगह तय की
बूढ़ातालाब धरना स्थल से आम लोगों को लगातार हो रही परेशानी के बाद कलेक्टर ने एसएसपी, सीईओ नवा रायपुर, अभनपुर एसडीएम समेत कई अफसरों से नवा रायपुर की नई जगह का निरीक्षण कराया। इसके बाद ही तय किया गया कि नया धरना स्थल सेक्टर-23 ग्राम तूता राज्योत्सव मैदान के सामने खाली 3.09 एकड़ जमीन पर शिफ्ट करना चाहिए। आला अफसरों ने बूढ़ापारा धरना स्थल की वजह से हो रही लोगों की परेशानी की भी एक रिपोर्ट कलेक्टर को दी है। सभी तरह की रिपोर्ट के आधार पर ही नवा रायपुर में नया धरना स्थल तय किया गया है।

इसलिए तय किया नवा रायपुर

राज्योत्सव स्थल के सामने किसी तरह का रहवासी इलाका नहीं है। बिजनेस कांप्लेक्स भी नहीं है।

राज्योत्सव का मैदान बेहद बड़ा है। यहां आंदोलनकारियों को नजरबंद भी किया जा सकता है।

मेला स्थल के पास सिक्सलेन सड़क है। यही सड़क अभनपुर जाती है। रोड कनेक्टिविटी है।

राज्योत्सव स्थल से मंत्रालय, एचओडी भवन के साथ ही नवा मुख्यमंत्री निवास भी दूर है।

यह बड़े प्रदर्शन को आसानी से रोका जा सकता है। बेरिकेडिंग आसानी से की जा सकती है।
धरना स्थल के पास पार्किंग, बिजली, प्राथमिक उपचार समेत सभी तरह की व्यवस्था है।


You may have missed