June 13, 2024

राहत की खबर! 7 रुपये तक सस्ता हो सकता है पेट्रोल-डीजल, सरकार घटा सकती है टैक्स


देश में पेट्रोल-डीजल की ऊंची कीमतों से सभी लोग परेशान हैं. फ्यूल की महंगाई से आम आदमी का बजट बिगड़ रहा है. लेकिन आने वाले दिनों में लोगों को बड़ी राहत मिल सकती है. ऐसा इसलिए, क्योंकि केंद्र सरकार मक्के और तेल पर टैक्स को घटा सकती है. अगर सरकार ऐसा करती है, तो इससे पेट्रोल-डीजल की कीमतों में गिरावट आएगी. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्र सरकार यह कदम केंद्रीय बैंक की बढ़ती महंगाई को कम करने के लिए दी गई सिफारिशों के मुताबिक उठा सकती है.


फरवरी का महंगाई डेटा आने के बाद होगा फैसला
रिपोर्ट में कहा गया है कि इस पर आखिरी फैसला फरवरी महीने के लिए सीपीआई आधारित महंगाई के आंकड़े आने के बाद ही लिया जाएगा.

IIFL के वाइस प्रेजिडेंट अनुज गुप्ता के अनुसार, सरकार 7 रुपये से लेकर 10 रुपये तक एक्साइज ड्यूटी में कटौती कर सकती है. इसके बाद पेट्रोल-डीजल के दाम में 5 से 7 रुपये प्रति लीटर की गिरावट आ सकती है. अनुज गुप्ता ने आगे बताया कि पेट्रोल और डीजल सस्ता होना इस बात पर भी निर्भर करेगा कि सरकार द्वारा एक्साइज ड्यूटी कट को कन्ज्यूमर तक ओएमसी कितना ट्रांसफर करती हैं.

इससे पहले कितनी हुई थी ड्यूटी में कटौती?
इससे पहले केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 21 मई 2022 को पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी में 8 रुपये और डीजल पर 6 रुपये प्रति लीटर की ड्यूटी कटौती की थी. इससे देश में पेट्रोल की कीमतों में 9.5 रुपये प्रति लीटर और डीजल के दाम में 7 रुपये प्रति लीटर की गिरावट आई थी.

देश में रिटेल महंगाई जनवरी में 6.52 फीसदी पर पहुंच गई थी, जो तीन महीने का रिकॉर्ड है. इसकी वजह से सरकार के लिए बढ़ती महंगाई को काबू में लाने के लिए कोई कदम उठाना जरूरी हो गया है. जनवरी के सीपीआई आधारित महंगाई के आंकड़े आने के बाद अप्रैल में रेपो रेट में और बढ़ोतरी की संभावना जताई जा रही है. जनवरी महीने का रिटेल महंगाई का आंकड़ा आरबीआई द्वारा निर्धारित 6 फीसदी की सीमा से ज्यादा रहा है. यह पिछले साल अक्टूबर महीने के बाद पहली बार आरबीआई की ऊपरी सीमा से ज्यादा रहा है.


You may have missed