December 2, 2022

न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के बीच दूसरे वनडे में थर्ड अंपायर ने फैसले को पलटा

नई दिल्ली। सॉफ्ट सिग्नल विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के बीच क्राइस्टचर्च में खेले जा रहे दूसरे वनडे में एक बार फिर यह सवालों के घेरे में आ गया है। काइल जेमिसन ने अपनी गेंद पर तमीम इकबाल का शानदार कैच पकड़ा। मैदानी अंपायर ने भी सॉफ्ट सिग्नल आउट दे दिया, लेकिन तीसरे अंपायर क्रिस गैफनी ने फैसले को पलटते हुए नॉट आउट करार दिया।

यह पूरा वाकया बांग्लादेश की पारी के 15वें ओवर में हुआ। कई एंगल से रिप्ले देखने के बाद तीसरे अंपायर ने तमीम इकबाल के पक्ष में फैसला दिया। तीसरे अंपायर का मानना था कि जेमिसन ने कैच तो लिया है, लेकिन कैच के समय वह पूरी तरह नियंत्रण में नहीं थे, लेकिन न्यूजीलैंड के प्लेयर्स इस फैसले से बेहद नाखुश दिखे। उनका मानना था कि कैच को पूरी तरह से लपकने के बाद ही गेंद जमीन से टकराई थी।

पढ़े- मदिरा प्रेमियों के लिए बड़ी खबर: शराब पीने की कानूनी उम्र का हुआ ऐलान

तीसरे अंपायर का यह फैसला भारत-इंग्लैंड के हालिया टी20 सीरीज से काफी उलट है। अहमदाबाद में खेले गए चौथे टी20 में सूर्यकुमार यादव और वॉशिंगटन सुंदर के विरुद्ध निर्णय हुआ था। उस मैच में सूर्यकुमार पारी के 14वें ओवर में सैम कुरेन की गेंद पर डेविड मलान को कैच दे बैठे थे। रिप्ले में दिख रहा था कि गेंद जमीन को छू गई थी, लेकिन सॉफ्ट सिग्नल के चलते सूर्यकुमार को थर्ड अंपायर ने आउट दे दिया।

इसके बाद पारी के आखिरी ओवर में वॉशिंगटन सुंदर भी सॉफ्ट सिग्नल के तहत आउट दिए गए। जोफ्रा आर्चर की गेंद पर सुंदर ने एक बेहतरीन शॉट लगाया, लेकिन गेंद बांउड्री लाइन पर पड़ खड़े आदिल राशिद के हाथों में गई। मैदानी अंपायर ने सॉफ्ट सिग्नल आउट दिया। कैच लेने के समय ऐसा लग रहा था राशिद का पैर बाउंड्री लाइन को टच कर गया है, लेकिन तीसरे अंपायर ने सॉफ्ट सिग्नल के चलते सुंदर को आउट दे दिया।

पढ़े- दर्दनाक सड़क हादसा: बस और ऑटो के बीच जबरदस्त भिड़ंत में 13 लोगों की मौत

उस मैच के बाद कप्तान विराट कोहली ने भी सॉफ्ट सिग्नल के फैसले पर सवाल खड़े किए थे। कोहली ने कहा था कि अंपायर के पास मुझे नहीं पता का ऑप्शन क्यों नहीं हो सकता है। आज के फैसले के बाद सवाल उठना लाजिमी है कि नियम एक है, तो अलग-अलग नतीजे क्यों?

Share this page to Telegram