April 24, 2024

एक ही दुल्हन से शादी करने मंडप पर पहुंचे चार दूल्हे, उधर दुल्हन किसी और के साथ फरार


भोपाल। ठगी के एक ऐसे मामले का खुलासा हुआ है जिसके बारे में जानकर खुद पुलिस भी हैरान हो गई है। कोलार इलाके में एक बारात आई, लेकिन शादी वाली जगह पर ताला लगा था। दुल्हन पक्ष से कोई फोन भी नहीं उठा रहा था। थक-हार कर जब दूल्हा और बारात थाने पहुंची तो पता चला कि तीन और दूल्हे भी वहां बैठे हुए हैं। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और आगे की जांच जारी है।


पढ़िए पूरी खबर-
दरअसल, हरदा का रहने वाला एक शख्स गुरुवार को शादी करने के लिए भोपाल के कोलार इलाके में एक जन कल्याण समिति के दफ्तर में पहुंचा था। यहां ताला देख दूल्हे और उसके साथ आए रिश्तेदारों ने पड़ोस में रहने वाले लोगों से पूछताछ की तो उन्हें बताया गया कि यहां बताए जा रहे नाम का कोई नहीं रहता। इसके बाद उन्होंने दिए गए मोबाइल नम्बरों पर कॉल किया तो फोन बंद मिला।

ठगी करने वाला गिरोह का पर्दाफास-
गड़बड़ी की आशंका के साथ जब दूल्हा और रिश्तेदार कोलार थाने पहुंचे तो पता चला कि यहां पहले से ही तीन दूल्हे और हैं जो उसी लड़की से शादी करने पहुंचे थे। इसके बाद मामले का खुलासा हुआ कि इन चारों से शादी के नाम पर ठगी हो चुकी है। इस मामले को लेकर सीएसपी भूपेंद्र सिंह ने बात करते हुए बताया कि हरदा के रहने वाले दूल्हे ने कोलार थाने में धारा 420 के तहत केस दर्ज कराया। छानबीन में पता चला कि 3 लोग यह पूरा गिरोह चला रहे हैं।

फोन नंबरों के आधार पर आरोपियों के पते निकाले गए और तीनों को गिरफ्तार कर थाने लाया गया। इसमें एक महिला और दो पुरुष हैं। ठगी का इनका तरीका बेहद शातिराना रहता था। यह लोग उन जिलों में जाकर प्रचार करते थे जहां पुरुषों की शादियों में अक्सर परेशानी आती है या बेहद मुश्किल से उन्हें दुल्हन मिलती है। उन जिलों में प्रचार के दौरान यह लोग अपना मोबाइल नंबर देते थे जिसपर दुल्हन ना मिलने और शादी में देरी से परेशान लोग फोन करते थे।

इसके बाद जब लोग गिरोह के लोगों से संपर्क करते थे तो उन्हें भोपाल बुलाया जाता था। भोपाल पहुंचने पर गिरोह का एक शख्स लेबर चौक से 200 से 500 रुपये देकर एक लड़की को लाते थे और उसे बतौर दुल्हन लड़के वालों से मिलवाया जाता था। जब लड़के वालों को लड़की पसंद आ जाती थी तो उनसे 20 हजार रुपये ले लिए जाते थे। थाने में शिकायत लेकर आए पीड़ित दूल्हों से भी गिरोह के लोगों ने 20-20 हज़ार रुपये वसूले थे। फिलहाल तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है जिसमें इनका पुराना रिकॉर्ड भी खंगाला जा रहा है।

 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed